Middle East देशों से कालेधन पर जानकारी साझा के लिए भारत करेगा समझौता

Loading the player...

India to sign agreement with middle east countries for information sharing on black money circulation

Last updated : 23 April, 2017 | World

देश के बाहर जाने वाले काले धन पर रोक लगाने के लिए भारत ने मध्य पूर्व देशों के साथ महत्वपूर्ण जानकारी-साझा करने के लिए एक समझौते का प्रस्ताव रखा है। ऐसा माना जा रहा है कि कुछ स्थानीय प्रमोटर संदिग्ध लेन-देन के लिए खाड़ी देशों का इस्तेमाल करते हैं।

जानकारी के मुताबिक, अगर ये समझौता होता है तो खाड़ी देशों के माध्यम से देश के बाहर जाने वाले काले धन के बारे में सरकार को जानकारी मिल सकती है। इस समझौते के तहत खाड़ी देशों में काम करने वाले भारतीयों और उनकी फर्म के बारे में अन्य जानकारियां भी मिल सकेगी। भारत में लोन डिफॉल्ट की जांच के बाद इस तरह के समझौते की ज़रूरत महसूस की गई जिसमें मध्य पूर्व के देशों में ऐसे कई खातों में पैसे के संदिग्ध लेनदेन को उजागर किया गया था। पता चला था कि ये खाते या कंपनियां दुबई फ्री ट्रेड ज़ोन या ऐसी ही किसी जगह से संचालित होते हैं।

 

जानकार मानते हैं कि Information Exchange Agreement पर सहमति बनने के बाद भारत की ईडी और सीबीआई जैसी जांच एजेंसियां आसानी से संदिग्ध शेल कंपनियों के बारे में जानकारी हासिल कर पाएंगी।

Read More

related stories