नोटबंदी से ठीक पहले BJP ने हापुड़ में खरीदी जमीन, विपक्ष ने घेरा

Loading the player...

BJP bought land for party office in Hapur before demonetisation, opposition alleges black money used

Last updated : 1 December, 2016 | India,Top News

उत्तर प्रदेश के हापुड़ में बीजेपी कार्यालय के लिए नोटबंदी से कुछ दिन पहले 46 लाख से ज्यादा की जमीन खरीदने का मामला सामने आया है। जिसके बाद हापुड़ कांग्रेस विधायक गजराज सिंह ने आरोप लगाया है कि नोटबंदी की सूचना पहले से ही बीजेपी नेताओं को थी। विधायक ने आरोप लगाया बीजेपी ने जमीन खरीदकर काले धन को सफेद कर लिया है। वहीं बीजेपी नेताओं ने इस आरोप को निराधार बताया।

आप को बता दें हापुड़ जिला बनने के बाद से ही बीजेपी का जिला कार्यालय एक किराए के मकान में चल रहा है। बीजेपी ने अक्टूबर में ही हापुड़ के प्रीतविहार कालोनी में बीजेपी जिला कार्यालय के लिए जमीन की रजिस्ट्री कराई थी। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि बीजेपी ने पहले ही जमीन खरीदकर काले धन को सफेद कर लिया।

आप को बता दें बीजेपी ने हापुड़-पिलखुवा विकास प्राधिकरण की प्रीत विहार आवासीय योजना में गाजियाबाद के कविनगर निवासी केसी-37 निवासी अरुण जैन का 288 वर्ग मीटर का प्लॉट (सी-59) खरीद लिया था। जिसका बैनामा 26 अक्टूबर 2016 को बीजेपी केंद्रीय कार्यालय 11, जनपद रोड, नई दिल्ली की ओर से अधिकृत बरेली विधायक राजेश अग्रवाल ने करवाया। गवाह हापुड़ बीजेपी जिलाध्यक्ष अशोक पाल और जिला कोषाध्यक्ष कपिल को बनाया गया। जमीन की खरीद 46 लाख रुपये के दो ड्राफ्ट के माध्यम से की थी। वहीं बीजेपी नेता ने कांग्रेस के आरोप को सरासर गलत बताया।

हापुड़-पिलखुवा विकास प्राधिकरण में 288 वर्ग मीटर का प्लॉट अनिल जैन नाम के शख्स से खरीदा गया था। जमीन की खरीद के लिए 46 लाख रुपये के दो ड्राफ्ट के जरिए पेमेंट किया गया।

Read More